Blod i urinblod i urin

Blod i urinblod i urin

मूत्र में रक्त

Blod i urinen

  • मूत्र में रक्त क्यों मौजूद हैं?
  • मूत्र और मूत्राशय को समझना
  • हीमट्युअरीया (रक्तमेह) क्या है?
  • मूत्र में रक्त के मिलने का क्या कारण है?
  • आपको किस प्रकार की जाँच करवाने की अनुशंसा की जा सकती हैं?
  • किस प्रकार के उपचार की आवश्यकता हो सकती हैं?

मूत्र में रक्त क्यों मौजूद हैं?

आपके मूत्र में रक्त के मिलने से आमतौर पर आपके मूत्र का रंग लाल या भूरे रंग में परिवर्तित हो जाता है। यद्यपि यह खतरनाक हो सकता है, तथापि ऐसा अक्सर गंभीर स्थिति के कारण नहीं होता है। हालाँकि, यदि आप मूत्र में रक्त को देखते है तो इसके मूल कारण का पता लगाने के लिए आपको डॉक्टर से परामर्श करना महत्वपूर्ण हैं। आपके मूत्र में रक्त कई कारणों से हो उपस्थित हो सकता है, जिसकी चर्चा नीचे की गई हैं।

वैकल्पिक रूप से, कुछ लोगों के मूत्र में रक्त की बहुत कम मात्रा उपस्थित होती हैं जिन्हें देख पाना संभव नहीं होता हैं, लेकिन जब उनके मूत्र के नमूने में डिपस्टिक रखा जाता है, तब रक्त को देख पाना संभव होता है।

मूत्र और मूत्राशय को समझना

आपकी किडनी निरंतर मूत्र का निर्माण करते रहता हैं। किडनी से मूत्र बूंद-बूंद कर मूत्र-नलिका (आपके मूत्रवाहिनी) के माध्यम से निरंतर बहते हुए मूत्राशय तक पहुँचता है। आप जितना खाते- पीते हैं, और आपको जितना पसीना निकलता है, उसके आधार पर आपमें विभिन्न परिमाण में मूत्र का निर्माण होता हैं।

Urin vei

आपका मूत्राशय मांसपेशियों से मिलकर बना है और यह मूत्र को भंडारित करता है। मूत्र से भरने पर यह एक गुब्बारे के समान फैलता है। मूत्र के आउटलेट (आपके मूत्रमार्ग) को आमतौर पर बंद रखा जाता है। इस कार्य में आपके मूत्राशय के चारों ओर की मांसपेशियों द्वारा मदद की जाती है जो आपके मूत्रमार्ग (श्रोणि सतह की मांसपेशियों) को घेरे रहते हैं और सहयोग करते हैं।

जब आपके मूत्राशय में एक निश्चित मात्रा में मूत्र जमा हो जाता है, तो आप जानते हैं कि आपका मूत्राशय भर गया है। जब आप मूत्र-त्याग करने के लिए शौचालय जाते हैं, तो आपके मूत्राशय की मांसपेशियाँ सिकुड़ (संकुचित हो) जाती है और मूत्रमार्ग और श्रोणि के सतह की मांसपेशियाँ मूत्र को बाहर निकलने की अनुमति देकर आराम की स्थिति में पहुँच जाती है।

हीमट्युअरीया (रक्तमेह) क्या है?

जब आपके मूत्र में रक्त का अंश मौजूद होता है, तो उसे सूचित करने के लिए चिकित्सा की भाषा में हीमट्युअरीया (रक्तमेह) शब्द का इस्तेमाल किया जाता है। यह आम तौर पर तब होता है जब आपके मूत्राशय या गुर्दे में कोई समस्या होती है। कुछ लोगों में अन्य लक्षण भी देखने को मिलता हैं जब उनके मूत्र में रक्त मौजूद होता है, जबकि अन्य लोग बिना अन्य लक्षणों के साथ पूरी तरह से स्वस्थ महसूस करते हैं।

मूत्र में रक्त के मिलने का क्या कारण है?

मूत्र में रक्त के मिलने के अनेक अलग-अलग कारण हैं। रक्त आपके किडनी या आपके मूत्र मार्ग के किसी भी क्षेत्र - उदाहरण के लिए, आपके मूत्राशय, मूत्रमार्ग या मूत्रमार्ग से आ सकता है।

कभी-कभी महिलाओं के लिए यह जानना कठिन हो सकता है कि रक्त कहाँ से आ रहा है। एक मासिक धर्म चक्र या योनि से दूसरे कारण से मूत्र में रक्त के मौजूद होने का कारण बन सकता है।

मूत्र मार्ग का संक्रमण

आपके मूत्र में रक्त का सबसे आम कारण मूत्र का संक्रमित होना है, खासकर महिलाओं में। मूत्र संक्रमण के कारण आपका मूत्राशय (मूत्राशय शोथ) सूज जाता है। इसके सबसे सामान्य लक्षण मूत्र-त्याग करते समय दर्द होना और सामान्य से अधिक बार मूत्र-त्याग करना हैं। आपको अपने निचले पेट में दर्द और उच्च तापमान (बुखार) भी हो सकता है। आपके मूत्राशय में होने वाली इस सूजन के परिणामस्वरूप आपके मूत्र में रक्त आ सकता है।

आमतौर पर मूत्र-मार्ग के संक्रमण का उपचार बहुत प्रभावी ढंग से एंटीबायोटिक दवाओं का एक छोटा कोर्स लेकर किया जा सकता हैं। यदि आपको निम्नलिखित में से कोई भी लक्षण दिखाई देता है, तो आगे और परीक्षण करवाना आवश्यक हो सकता है:

  • Ved gjentatte infeksjoner - se separat pakningsvedlegg kalt gjentatt cystitis hos kvinner (se separate brosjyrer kalt tilbakevendende systis hos kvinner.).
  • अन्य अंतर्निहित स्थितियाँ - उदाहरण के लिए, अतीत में किडनी की समस्याएं।

For mer informasjon, urininfeksjoner hos kvinner (systis hos kvinner), urininfeksjon hos menn (urininfeksjon hos menn), urininfeksjon hos eldre mennesker (urininfeksjon hos eldre mennesker), urininfeksjon i svangerskapet Se urininfeksjon hos barn (urininfeksjon i svangerskapet) og urininfeksjoner hos barn.

किडनी का संक्रमण

किडनी संक्रमण (जिसे पीयेलोफोर्टिस भी कहा जाता है) आमतौर पर मूत्राशय के संक्रमण की जटिलता का संकेत करता हैं। आमतौर पर मूत्र-मार्ग के संक्रमण के साथ किडनी संक्रमण का लक्षण अधिक गंभीर होता हैं। अक्सर आपके पेट (उदर) या आपकी पीठ के किनारे के हिस्से में बहुत ही उच्च तापमान (बुखार) और दर्द हो सकता है।

Behandling av nyreinfeksjoner utføres med lange antibiotika. Hvis arten av infeksjonen er mer alvorlig, bør antibiotika gis direkte inn i venen på sykehuset. For mer informasjon, se separat pakningsvedlegg kalt nyreinfeksjon (pyelonephritis) (se en egen journal kalt nyreinfeksjoner (pyelonefrit).)

यूरेथराइटिस (मूत्रमार्गशोथ)

Det indikerer betennelse i urinen (urinveiene) rør som utskilles i urinen. Eretritt er ofte forårsaket av seksuelt overført infeksjon, som lett kan behandles med antibiotika.

गुर्दे की पथरी (किडनी स्टोन)

आपके मूत्र-मार्ग में रक्त स्राव हो सकता है जब आपके मूत्र-मार्ग से पत्थर बाहर निकलते समय यह आपके मूत्रमार्ग के आंतरिक दीवारों से घर्षण करता है। ऐसा होने पर आपके पीठ और पेट में दर्द श्रोणि की ओर दर्द हो सकता है। गुर्दे की पथरी वाले कुछ लोगों के मूत्र में केवल रक्त हो सकता हैं, जिसकी जाँच एक डीपस्टिक टेस्ट द्वारा की जा सकती है।

Noen mennesker trenger imidlertid ingen behandling for å fjerne nyrestein fordi de selv går ut, mens noen trenger spesialisert behandling for å fjerne nyrestein. For mer informasjon, se separat pakningsvedlegg kalt nyrestein (se separat ark kalt nyrestein.)

मूत्राशय या गुर्दे में ट्यूमर

Det tidligste referansepunktet for blærekreft eller nyrekreft er tilstedeværelsen av blod i urinen, vanligvis er det uten noen andre symptomer. Men folk som har blod i urinen, lider de fleste ikke av kreft.

पहले की तुलना में मूत्राशय और गुर्दे के कैंसर से पीड़ित लोगों के उपचार की संभावना कही अधिक बेहतर है। इसलिए यह बहुत महत्वपूर्ण है कि कुछ लोगों के मूत्राशय के कैंसर की जाँच करने के लिए उनके मूत्र की जाँच की जाएँ, यदि उनके मूत्र में रक्त का अंश पाया जाता है। उदाहरण के लिए, यदि 45 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्ति के मूत्र में बिना किसी संक्रमण के रक्त का अंश पाएं जाने पर उसे परीक्षण के लिए भेजा जा सकता हैं। इसमें एक अल्ट्रासाउंड स्कैन या एक अन्य प्रक्रिया शामिल हो सकती है जहाँ एक छोटी पतली टेलिस्कोप को व्यक्ति के मूत्राशय (एक सिस्टोस्कोपी) में डाला जाता है।

किडनी में सूजन

ऐसी विभिन्न स्थितियाँ हैं जो आपके किडनी में सूजन उत्पन्न कर सकती हैं। इसके कारण तब आपके मूत्र में रक्त मौजूद हो सकता हैं, जो आमतौर पर केवल तब पाया जाता है जब आपके मूत्र का एक डिप्स्टिक परीक्षण किया जाता है। गुर्दे की सूजन को ग्लोमेरुलोनफ्रिटिस कहा जाता है। कभी-कभी अन्य लक्षणों जैसे कि थकान और आपकी आंखों और पैरों के आसपास सूजन को भी देखा जा सकता है।

Som et resultat av betennelse kan du lide av glomerulonephritis (magesmerter) som vanligvis skyldes et problem med kroppens immunsystem. Dette kan noen ganger starte på grunn av infeksjon. Den vanligste årsaken til tilstedeværelsen av blod i urin hos barn og unge er glomerulonephritis (glomerulonitt). Det kan imidlertid skje med folk i alle aldre. For mer informasjon, se separat pakningsvedlegg kalt glomerulonephritis (se forskjellige ark av glomerulonephritis.)

रक्तस्राव की बीमारी

Det er noen situasjoner som kan hindre blodpropp i kroppen din. Et eksempel på dette er hemofili. Dette er en uvanlig, men viktig grunn for tilstedeværelsen av blod i urinen. Hvis du tar medisiner for å fortynne blodet (for eksempel warfarin (warfarin)), og hvis du ser en del av blod i urinen, er det viktig å få blodet sjekket med det samme. Dette skyldes at dosen av warfarin kan være svært høy.

Det er også andre unormale forhold som kan forårsake blod i urinen. Dette inkluderer seglcelle sykdom, skade i urinveiene og polycystisk nyresykdom.

नोटNoen menneskers urin blir røde, men i virkeligheten er blodet ikke tilstede i urinen. Ved å spise rødbeter og ta medisiner, for eksempel antibiotika rifampicin (rifampicin), kan noen få rød urin.

आपको किस प्रकार की जाँच करवाने की अनुशंसा की जा सकती हैं?

आपके लिए आवशयक जाँच आमतौर पर अनेक अलग-अलग कारकों पर निर्भर करता है, जैसे कि आपमें अन्य लक्षण दिखाई देता हैं, यदि आपके पास कोई अन्य बीमारी या स्थिति है और आपकी उम्र कितनी है।

आपको मूत्र का नमूना देने की अपेक्षा की जाएगी जिसे संक्रमण की जाँच के लिए स्थानीय प्रयोगशाला को भेजा जाएगा। आपको एक रक्त परीक्षण और एक्स-रे या स्कैन भी करवाना पड़ सकता हैं।

आपके मूत्राशय की स्थिति का निर्धारण करने के लिए एक सिस्टोस्कोपी किया जा सकता है। सिस्टोस्कोपी की प्रक्रिया के दौरान डॉक्टर या नर्स एक विशेष पतली टेलिस्कोप, जिसे सिस्टोस्कोप कहा जाता है, का उपयोग कर आपके मूत्राशय में देखते हैं। आपके मूत्र (मूत्रवाहिनी) के लिए आपके आउटलेट के माध्यम से सिस्टोस्कोप को आपके मूत्राशय में प्रविष्ट कराया जाता है। आपके मूत्राशय में देखने के लिए की जाने वाली सिस्टोस्कोपी अक्सर स्थानीय संवेदनाहारी देकर किया जाता है।

अलग-अलग स्थितियों में किए जाने वाले विभिन्न परीक्षणों के बारे में और अधिक विवरण अलग-अलग पत्रक में पाया जा सकता है।

किस प्रकार के उपचार की आवश्यकता हो सकती हैं?

उपचार स्पष्ट रूप से आपके मूत्र में रक्त की उपस्थिति के लिए जिम्मेदार अंतर्निहित कारणों पर निर्भर करता हैं। आपके मूत्र में रक्त की उपस्थिति के बारे में अधिक जानकारी विभिन्न विशिष्ट पत्रकों में पाई जा सकती है।

यदि कोई कारण नहीं पाया जाता है, तो आपको अभी भी अपने जीपी को रक्त-स्राव के बारे में सूचित करना चाहिए, जो आपको अधिक परीक्षण करवाने की अनुशंसा कर सकते हैं। आपको अपने मूत्र में रक्त के अंश की अनदेखी नहीं करनी चाहिए, भले ही आपके पहले का परीक्षण सामान्य रहा हो।

अस्वीकरण: यह चिकित्सकों द्वारा समीक्षा किये गए मूल अंग्रेजी लेख का अनुवाद है। हमने सभी लोगों कि जानकारी के लिए जितना संभव हो उतना हमारे लेखों का अनुवाद किया है। तथापि, अनुवाद में कुछ गलतियाँ हो सकती हैं। इस कारण से हम सटीकता, विश्वसनीयता या समय अनिश्चितता की गारंटी नहीं दे सकते। यदि मूल अंग्रेजी लेख और अनुवाद के बीच कोई विरोधाभास है, तो मूल अंग्रेज़ी संस्करण हमेशा प्रबल माना जाएगा । इस आलेख को अंग्रेजी में पढ़ेढ़े

Funnet du denne informasjonen nyttig? JA ikke

Takk, vi har nettopp sendt en undersøkelses-epost for å bekrefte dine preferanser.

Bilastintabletter Ilaxten

Langsiktig sykdom og inkapasitet